अपने Dil कि बात कैसे सूने:- अपने आपसे तब नफरत होती है जब कोई ठुकराया होता है या फिर अपने जिन्दगी मे सफलता न मिलने के कारण से अपना जिन्दगी बेकार लगने लगता है । अपने आपसे नफरत होने लगती है, हमे ऐसा लगने लगता है कि हम्में कुछ भी आच्छा नहीं लगता है । ऐसे ही कई सोच हमारे मन मे आने लगते है जिसके कारण हम अपने जिन्दगी के सफलता तक नहीं पहुंच पाते है हम अपना हार को अपने आप मे ढूंडते हैं । इसके साथ हमारे कोंफिडेंस को भी कम कर देती है औरो के जिन्दगी से अपने आपको देखते है । जो कि और ज्यादा अपने आपसे उम्मिदें कम हो जाती है । लेकिन आप जितना सोचते उसे कई गुना औरो से बेहतार है आप जो कर सकते है वह जिसे अपने आपको तुलना करते है वह नहीं कर सकता है । बस अपने आपसे हार मनने के वाजय अपने अंदर देखने कि अवश्यक्ता है क्योंकि बहुत कुछ आपमे छिपा हुआ है जो कि आपको दिखाई नहीं दे रहा  ।

अपने आप से कैसे प्यार करें

1 अपने बहुत कुछ पाया है, शायद देखे नही होंगे

इंसान खुदमे कईओं से अलग होता है, वह खुद होता है । जो कि एक अपने जिन्दगी मे जोडना चहता वह चिज उससे जूड नहीं पाता जिसके कारण वह अपने मन मे सोचता है कि अपने जिन्दगी के बिते पल मे ऐसे काम को आंजम नहीं दे पाया है । लेकिन वह कई ऐसा काम किया होता है जो कि औरों के लिए बहुत कुछ किया होता है, इसीलिए नहीं दिखाई देता क्योंकि वह काम शायद उसके छोटा होता है । लेकिन आपने ऐसे बहुत सारे काम किये होंगे जो कि कोई आपसे बेहतार नहीं कर सकता, इसीलीए आप ने जो पाया है बहुत कुछ पाया है, जो आच्छे काम कर चुके वह भी बहुत कुछ किये हैं ।

2 खुदकी अलोचना न करें

इंसान कि काम है दूसरो को निचा दिखा के आगे बढना इसीलिए दूसरे मूँ से आपके प्रति नकारात्मक बातों को नाजरं आदज करके अपने ऊपर हावी न होनें दें । जब तक आप दूसरो के बातों को नाजर आंदज नहीं करेंगे तब तक आप अपनी ही खुदका अलोचना करते रहेंगे, जिसके कारण आप अपने ऊपर बादलव नहीं ला सकेंगे । दूसरों के नकारात्मक सोच को नकारे और अपने अंदर की खूबशूरती को समझे और आप ओरों से बहुत तकातवार हैं जो कि अपने जिंदगी से हार न मनने के तकात रखते हैं ।

अपने Dil कि बात कैसे सूनें (2)
अपने Dil कि बात कैसे सूनें 

3 ओरो से तुलना करना बंद करें

एक को दूसरे से तुलना करना बहूत बडी बेवकुफी है, एक जैसा दिखने वाले वस्तू का मे कोई न कोई कमीयाँ निकाल आती है या फिर सामने वाला से कई गुना आच्छा होता है । अपना तुलना सामने वाला से कभी न करें, क्योंकि जिसके साथ अपनी तुलना करते हो उसे भी किसी न किसी चिज से प्रोब्लेम हों । क्योंकि हर इंसान के जिवन मे किसी न किसी प्रकार का प्रोब्लेम रहता है ।

4 अपने असली सकाल को समझें

जब आप अपने चेहरे को नहीं पहचानेंगे तब तक आप अपने आप को नहीं पाचनेंगे और न हीं आप अपने से प्यार कर पायेंगे । अपने चेहरे कि कमीओं से परेशान न रहे, क्योंकि आप कई लोगो से बेहतार है और कई लोगों से अलग है । आप जो कर सकते है वह कोई और बेहतार तारीका से नहीं कर सकते है । अपनी सकल से परेशान न हो अपने चेहरे को समझे जो आप कई लोगों से अलग है और जिस फिल्ड मे आप आच्छा कर सकते है आप शिवा को ई ओर नहीं कर सकता है ।

5 अपने अंदर से डर को हटायें

डर न ईंसान को खा जाता है, किसी से आप जितना डारेंगे उतना ही उन्हे डाराने मे माजा आयेगा । मैं जब स्कूल मे था तब हमारे स्कूल मे एक ऐसा लडका था जो कई उसे डरते थे । लेकिन किसी को वह नहीं डराता था, जो उसे ज्यादा ही डरते थे, उन्हे डाराने उसे माजा आता था । इसीलिए अपने आंदर की डार को अपने आप पर हावी न होने दे और अपनी डार को हटायें । सामने जो मुसिबात दिखाई दे रही है उसकी सामना करें ।

6 अपने नकारत्मक विचारों को सकारात्मक मे बदलें

कभी कभार हमें दूसरो के मूँ से ऐसी ऐसी बाते हमारे बारे मे सूनने को मिलती ही जिसके बाद मन हताश हो जाता है । और अपने मन मे उसके बारे मे नकारात्मक सोच बाना लेते है या फिर हम खुद ही अपने आप के लिए नकारात्मक सोच बना लेते है । कहने वाले लोग बहुत है पर करने वाले बहुत कम । उन्हे कहने मे माजा आता है, लेकिन आपको करने मे माजा लेना है, ताकि किसी प्रकार कि नाकरात्मक सोच आपके उपर हावी न हो पाये ।

अपने Dil कि बात कैसे सूनें
अपने Dil कि बात कैसे सूनें

7 अपना नजरिया बदलें

उपरी लेख के साथ जुडी हुई है, अपने काम करने का नाजरीया, अपने सोचने का नाजरिया और लोगो के नकारत्मक बातों को अपने मन मे लेने का नाजरिया । सारी वो चिजे जो आपको औरो से कई अलग बनाती है और अपने आपके लिए ओर ओर आच्छा बनाती है ।

8 आप अपना आच्छा कर रहे है

लोगों  को दूसरों का काम रोकने मे बहुत माजा आता है, उनके बुराई करने मे उनके काम मे रुकावट डलने में । आप जो भी काम आ कर रहे हैं अपने लिए कर रहे है और यह सोच के करें कि आप बहुत आच्छे हैं ।  अपने जीवन को बेहतार बनाने के लिए कर रहे है । अपने आप से हार न माने दूसरो के कहने पर अगर हार गये तो जिन्दगी भार उस काम के लिए उनको कोशते रहेंगे लेकिन कुछ नहीं मिलने वाला । 

9 आप सबसे अलग हैं

मैने ऐसे लोगों के देखा है जो कि कहते है कि मैं सबसे अलग हूँ, लेकिन वे दूसरो से स्टाईल को कोपी करते है तो वे अलग कैसे हुये यही मैं सोच मे पाड जाता हूं । उपर भी मैने कुछ इसी तरह लिखा है कि आप कईओं से अलग है, आपको जो कर सकते है वह और कोई नहीं कर सकता है । इसीलिए हर इंसान सबसे अलग है, अपने आप मे, अपने काम मे, अपने सोच से लेकिन पहचाना जरूरी है कि आप सबसे अलग कर सकते है, आप जो कर सकते है, वह कोई ओर नहीं कर सकता है ।

10 हमेशा अपनी तारीफें करें

चालो मन लिया जाये आप कई फिल्ड मे इतने आच्छे नहीं है, जिसके कारण कोई आपका इतना तारीफे नहीं करते है नहीं किसी प्रकार कि प्रशंसा करते है । लेकिन आप अपने की प्रशंसा करेंगे तो आपसे कोई आगे नहीं निकाल सकता है । मेरा एक दोस्त है जो कि उसके चेहरे पे बहुत पिंपल था, जिसके कारण लोगो से कम ही मिला करता था । जिसके कारण उसका उतना लोग तारीफे नहीं किया करते थे, लेकिन वह जब भी किसी से मिलता था जो फिल्ड मे वह आच्छा कर सकता है, अपना जम के तारीफे किया करता । अपनी प्रशंसा करने से पिछे न रहें, जितना हो सके खुदकी प्रशंसा करें, लेकिन भाव न दिखायें ।

अपने Dil कि बात कैसे सूनें
अपने Dil कि बात कैसे सूनें

12 मन कि शांति से प्यार करें

ऐसे मैने कई लोगो को देखा है जो कि मन को शांत रखना पसंद करते है, वे किसी से ज्यादा बात नहीं करते है । न ही किसी से ज्यादा बकवास करना पसंद करते है, वे अपने मन से शांत रहते है क्योंकि उन्हे अपने मन कि शांति से प्यार होता है । कई सारे कल्पनायें मन मे रखे, अपने मन से प्यार करने लगते हैं । मुझे लगता है दिन भार के थकावटी जीवन मे मन को शांत रखने  के लिए आधा से एक घंटा शांती से बैठना चाहीये । मन कि शांति के लिए, मन कि भवनाओं के से प्यार करने के लिए ।

13 अपने सपनों से प्यार करें उन्हे सकार करने कि कोशिस करें

जब कोई अपना सपनां  पूरा होता है, उस दिन खुशी का कोई ठिकाना ही नहीं रहता है । जो भी आपका सपना हो, छोटा हो बडा हो, उन्हे सकार करने का प्रयास करें, जब पूरा होगा उस दिन खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहेने वाला । अपने सपनों से प्यार करें, अपने सपनो को सकार करने कि कोशिस करें, बहुत आच्छा लगता है । इसे आच्छे अपने आपसे जुड नहीं पायेंगे ।

14 अपने स्वाथ्य का खयाल रखें

जब किसी इंसान को कहीं से प्यार, सपोर्ट नहीं मिलता है तो वह अपने आपसे प्यार करने लगता है और अपना खयाल रखने लगता है । अपना खयाल रखें, स्वास्थ खाना खाये और अपना खय़ाल रखें । क्योंकि अपना खयाल भी रखना बहुत जरूरी है और जो कि बताता है कि आप अपने आपसे कितना प्यार करते है ।

Leave a Reply

Close Menu