Getting Over a Breakup:- क्या दिन था जब मैं उसे पहली बार बस स्टोप पर देखा था । उसे देखने के बाद महीनो तक सोचता रहा कि उसे कैसे दोस्ती करूं ? उसके बाद दोस्ती करने के बाद कैसे अपने दिल की बात बताऊं ? जब वो मेरी हो गई तो धीरे धीरे धोखा देने वाली संकेत उसमे दिखाई देने लगी थी । पर उसे नाजर आंदज किया क्योंकि मुझे उसपे भरोसा था, कि वो मुझे छोड नहीं जायेगी । जब वो मुझे छोड के जा चुकी है तो अब पता चाल रहा है कि जिन्दगी वैसे नहीं हुई जिसके बारें मे हम सोचते हैं, लगता था जिन्दगी भार उनके साथ रहेंगे, उनके साथ खुशियाँ बटेंगे । पर सोचा कुछ ओर था, लेकिन हुआ कुछ ओर, चाली गई छोड के, जो कभी सपने मे भी सोचा नहीं था । दिखाया सपना कि कभी खूशीं गम मे साथ रहेंगे, वादे क्या कि और इरादे उसका कुछ ओर निकला ।

Getting Over a Breakup
Getting Over a Breakup

इस दुनिया मे अन्नेको मे आप केवल नहीं है जिसका दिल टूट के बिखार चुका है । नजाने कईयों के कई बार ब्रेक-अप होते हुये भी वे अपने पैरो से खडे हो जाते है । आपको भी उन्ही लोगो मे से खडा होना है और जो ट्रेन पटरी से उतर चुकी है, उस्से आपस पटरी पर लाना है । हो सकता है आपको ब्रेक-अप के बाद कुछ सोचना ही छोड दे ओर उसी पल को ही बार बार याद करते रहें । पर  बाता दें, आप उस पल को, याद करके कुछ नहीं मिलने वाला, वाजय दर्द के । उनको भूलना होगा, वो केवल नहीं है इस दुनिया मे लडकी/लडका जिस्से आप बार बार याद करते रहे ।

 कहना आसान है पर करना बहुत मुश्किल, क्योंकि प्यार मे पडने के बाद हर समय उसकी आदत  हो गई थी । जब ज्यादा ही याद आती थी तो उनसे मिलने के लिये चाले जाते । क्या दिन था उस समय आपका, इसीलिये भूलना मुशिकल है क्योंकि दिल का टूटना शरीरिक दर्द से ज्यादा दर्दनाक होता है । शायद आपको लगे कि ब्रेक-अप सबसे दु:खी पल है, ये कहना गलत भी होगा । ईसीलिये हम आपके लिए ऐसे टिप्स लांयें है, जिसे जल्दी तो नहीं पर धीरे धीरे उतरी ट्रेन को पटरी पर ला सकते है और अपनी जिन्दगी कि सफर आगे बढा सकते है ।

इसे भी पढें- 13 कारण आपकी गर्लफ्रैंड आपको धोखा दे रही है 

क्या करें ब्रेक-अप के बा क्या करें ?

  • अपने प्रेमी से बात न करें

अगर ब्रेक-अप हो गया है तो आपको समझना चाहिये कि आपकी प्रेमी आपसे बात नहीं करना चाहती । वह आपके साथ रिलेशन को आगे बढाना नहीं चाहती है, हो सकता है आपको उसकी आदत हो गया होगा । उसे बात करके ही आपको निंद आता था । पर वह आप के साथ नहीं है, आपके रिलशन से जुडा नहीं हुआ है, ईसीलिये उनसे बात करना छोडने दें । मोबाईल फोन से उनकी नम्बर को डिलेट कर दें नहीं तो आपको बार- बार कोल करने का मन करेगा ।

  • खुद से प्यार करें
    Getting Over a Breakup
    Getting Over a Breakup

ईंसान जब किसी काम मे हार जाता है तो उस्से किधार का भी रास्ता नहीं दिखाई देता है तो वह अपने आपसे प्यार करता है । अगर आपका भी यही हाल है और कहीं भी किधार से भी रास्ता नहीं दिखाई दे रहा है तो अपने आपसे प्यार करें । अपने आप को खूश करने के लिये, आप मनोरंजन विडीओ या फिर फिल्मे देख सकते हैं, अगर अपने आपको मनोरंजन में व्यस्त रखते है तो उनको याद करने का समय ही नहीं मिलेगा ।

  • कुछ दिन के लिये शोसल साईट को छोड दें

अगर आप किसी भी शोसल साईट चलाते हो और आपको भी पता है कि वह भी शोसल साईट का ईस्तमाल करती है तो आपको कुछ दिन के लिये शोसल साईट को छोड दें । मनते है कहना आसान है पर करना बहुत मुश्किल है, क्योंकि जब उनके फोटो या स्टेटिस आपके सामने दोबारा दिख जायेगा तो आपकी ब्रेक-अप कि दर्द ओर ज्यादा ताजा हो सकती है । इसीलिये ज्यादा दिनो के लिये नहीं पर कुछ दिनो के शोसल साईट को छोड दे आप युट्यूब चला सकते है मनोरंजन विडीओ देखने के लिये ।

  • आच्छे दोस्तो से मिले

जब गर्लफ्रैंड साथ छोड देती है तो साथ देने के लिये हमारे दोस्त होते है । अपने दोस्तो से मिले, उनसे बातें, करे, उनके साथ कहीं बाहर घूमने के लिये जायें । अपने आपको दोस्तो के साथ व्यस्त रखें, अगर आपको लगता है कि अपने दर्द को बांटना चाहिये तो आप अपने दोस्तो को बता सकते है । अगर आपके दोस्त सच्चे होंगे तो वे उस हाल से निकालने का कोशिस जरुर करेंगे ।

  • पूराने बातों को भूलाकर आगे बढें

जब तक अपने बिता हुआ काल को नहीं भूलेंगे तब तक, आप अपने जिंदगी मे कभी खूश नहीं राह पयेंगे । जो भी आपके साथ हुआ उस्से भूला के आगे कि काल को महत्व मन के बिते दिन को भूले और आगे बाढें । आपको उसकी धूंधली याद आती रहेगी पर उसे नाजर आंजद करके आगे बाढें, जब तक नहीं भूला पायेंगे तब तक आप आगे नहीं बाढ पयेंगे । इसीलिये आपको पुराने यादों को भूलना होगा ।

  • नया आच्छा सोच बनायें

ब्रेक-अप होने के बाद, कई अपने आपमें नकारात्मक सोच भरने लगते है, उन्हे लगने लगता है कि उनके चाले जाने के बाद उनके जिन्दगी मे कोई नहीं है । इस दूनिया मे ऐसे बहुत से लोग है जो कि आपसे बहुत प्यार करते है आपकी ईज्जत करते है । वे आपके माता पिता हो सकते है, आप भाई बाहन या रिश्तदार हो सकते है । इसीलिय़े अपने आप मे नया और आच्छा सोच बनायें, अपने लिये नहीं तो अपने चाहने वालों के लिये, वे आपको कितना महत्व देते है ईसीलिये तो आपकी इज्जत करते है आपसे प्यार करते हैं ।

  • अपना खयाल रखें

ब्रेक-अक के बाद कई तो अपने आप पर ध्यान ही नहीं दे पाते, अपने शरीर पर अपने खन-पन पर । साही स्वास्थ्य के लिये अपना खयाल रखें, साही समय पर खाना खायें,  हारी सब्जीयाँ, फल खायें । अगर आप अपना खयाल नहीं रखेंगे किसी कारण से आपकी ताबीयात खरब हो जाये तो आपकी वाजह से अपने चाहने वालो को कितना तकलिफ देंगे, आपकी वाजह से वे परेशान होंगे ।

  • व्यायाम/योगा करें

व्यायाम करना आपको बहुत लभदायक पहुंचायेगा, आपको शरीररिक रुप से अच्छा बेहतार तो महसूस करायेगा साथ ही आपकी गुस्सा को भी साही जगाह लगाने मे मदत करता है  । आपकी शरीरिक रुप अगर शूस्त होगी तो आपकी ध्यान सकारात्मक बातों पर केद्रित कर सकेगें । ईसीलिये आपको रोज नहीं तो भी सप्ताह में चार बार व्यायाम करें ताकि थकान से उसकी याद ही न आ पाये । 

  • ओर लडकी को लाईन मरें

कोई तो भूल जाते है कि इस दुनिया में उसके जैसे कोई नहीं, ओर किसी ओर लडकी का में नाजर डालना ही छोड देते हैं । याकिन मनीयें इस दूनिया में बहुत सारे लडकीयाँ है जो कि उनसे बहुत अच्छे और खूबशुरात लडकीयाँ है,ईसीलिये ब्रेक-अप के बाद किसी ओर लडकी को लाईन मरना शूरू करें । घर मे रोते रहने से तो अच्छा है कि आप किसी ओर लडकी को लाईन मारें, क्या पता लाईन मरते-2 कोई ऐसी लडकी मिल जाये जो कि उनसे भी अच्छी हो ।

  • परीवार से जूडे
    Getting Over a Breakup
    Getting Over a Breakup

दूनिया ऐसा हलत पर है और दिवान्गी कि लत परीवार वालों कि ही मिलती है ।  लडकी के प्यार मिल जाने के बाद परीवार को कोई अहमियात ही नहीं देते । लेकिन आपको ब्रेक-अप के बाद परीवार से जुडे, निजी तौर पर, छोटे, छोटे खूशिओं मे शामिल होयें, उनके हिस्सा बनें । परीवार मे बहुत से लोग है जो कि आपसे बहुत प्यार करते है । आपको हँसते देख उन्हे खूशियाँ मिलती है, ईसीलिये परीवार से जुडे, अपने परीवार वालों को अहमियात दें ।

  • किताबे पढे

किताबे हर तरह कि होती है, जिसे आपको वे किताबें पढना है, जो कि गिरे हुये को दोबारा उठाने मे मदत करती है, कमियाब लोगों कि कहानीयाँ पाढ सकते है । जिस्से कि आपका दिमाग आगे के बारे में तथा उसे छोड किसी ओर चिज पर केंद्रित करने लगेगा और किताबें पढने से कफी ज्यादा सिख मिलती है, ईसीलिये किताबे पढना चाहिये ।

ब्रेक-अप के बाद क्या न करे

  1. रिश्ता खतम होते ही उनका दोस्त न बनें

मनते है कि रिलेशनशिप मे उनके साथ बिताये पल एक ही बार से भूलाया नहीं जा सकता, ईसीलिये दोस्त बनके धीरे-धीरे भूलने का सोचते है । दोबारा दोस्ती करना तभी काम करता है, जब किसी लडकी को प्रपोज करने के बाद ईन्कार कर देती है । लेकिन आप प्रपोज करके रिलशनशिप मे जूड चुके थे, उसके बाद वो ब्रेक-अप कर दी है । ईसीलिये दोबारा दोस्ती करने वाला काम नहीं करेगा, जितना हो सके उनसे दूर रहें । दोबारा दोस्ती करनें का गलती न करें ।

  1. शरब न पियें

कई लोगो के पास उनके गर्लेफ्रैंड के चाले जाने के बाद, उनके पास एक ही रास्ता दिखाई देता है, शरब पिना । आपको शरब या किसी भी नाशिली पदार्थों का सेवन नहीं करना है, नहीं तो भविष्य मे इसका नुकसान भरना पाड सकता है । जितना भी शरब पिये उसको कोई फर्क नहीं पडेगा, केवल आपके शरीर के उपर बहुत फर्क पाड सकता है, जो कि बाद मे दिखाई दे सकता है ।

  1. उनको ज्यादा याद न करें

अगर जिंदगी के काल को किसी ओर के साथ खुशहाल से बितना चाहते है, फिर भी आपको, अपनी जिंदगी आपकी ही जिना पडेगा । उनको याद करना उस घाव को बार बार घायल करने के बराबर है, जो कि कभी भरेगा नहीं । अगर जलते आग मे घी गिराते रहेंगे तो वह आग नहीं बुझेगा, वह जलते ही रहेगा जब तक कि घी खत्म नहीं हो जाता । ईसीलिये आपको उनकी यादो को दिल और दिमाग से निकाल देना होगा और उन्हे ज्यादा याद न करें ।

  1. खुदमे बादलव न लायें

कईओं को लगता है कि खुदको बदलूंगा तो वह दोबारा से मेरे पास आ जायेगी, अगर उनको आपके साथ रहना ही होता तो वह आपको छोड के नहीं जाती इसीलिये अपने आप मे बादलव न लायें । हाँ समय के अनुसार अपने आप मे बादलव ला सकते है, लेकिन यह सोच अपने आपको, यह सोच अपने को न बादले वह दोबारा से आ जायेगी, किसी ओर के लिये बादल सकते है ।

  1. पुराने साथी का पिछा या परेशान न करें

अगर आप ब्रेक-अप के बाद आप सोच रहे है कि दोबारा उसका पिछा करने से या दोबारा पटाने से वह आपके रिलेशनशिप मे दोबारा आ जायेगी, ऐसा न सोचे क्योंकि रिलेशनशिप मे रहने वाले कभी किसी के साथ ब्रेक-अप नहीं करेंगे । ईसीलिये आप उनका पिछा करना छोडदे, उन्हे परेशान न करें । उन्हे अपना जिंदगी जिने दें और आप भी अपनी जिन्दगी जियें, उनका परेशान न बाने और अपने मस्त रहें ।

  1. एक रात का संबध न बनायें

कई ब्रेक-अप के बाद एक रात का संबध बनाने चाले जाते है । वे सोचते है कि एक रात बिताने के बाद सारा कुछ भूल जायेंगे, पर ऐसा नहीं होता जितना देर के लिय़े उनके साथ रहते हैं । उतना ही देर के भूलाने के लिये मदत करती है, उसके साथ रात बिताने के बाद या तो आपको दोबारा जाने का मन करेगा दूसरा आपको उसके साथ रात बिताये पल याद आ सकती है । जिसके बाद एक से दो रात के लिये दोबारा जा सकते है, अगर आदत हो गया तो वह जिन्दगी भार भूलना मुश्किल हो सकता है ।

  1. गुस्सा न करें

ब्रेक-अप के बाद अपनी साथी कि गुस्सा  किसी ओर का मे निकालते हैं, ऐसा नहीं करना है । शायद आपके गुस्सा के कारण सामने वाला के नजरों मे एक गुस्सेल ईंसान न दिखें । गुस्सेल लोगो को कम ही लोग पसंद करते है । इस्से आपकी मन लोगों के न पसंद करने पर कहीं ओर जा सकता है, ईसीलिये जितना हो सकें, अपने गुस्सा को कन्ट्रोल करके रखें और लोगो के सामने आच्छा दिखें ।

  • ज्यादा दु:खी न रहें

उसके यादों या ब्रेक-अप के बाद ज्यादा दु:खी न होयें  । क्योंकि लोगो का मन्ना है कि दु:खी आत्मा में शैतन का निवाश होता है और दु:खी लोगो के साथ कोई भी दोस्ती करना या बात करना पसंद नहीं करते है । ईसीलिये ज्यादा दु:खी न हुयें, अपने आप को संभाले और दु:खो को भूला के खूश रहना सिखें ।

  1. दु:ख को अपने अंदर ना रखें

कहा जाता है कि दु:खो को किसी के साथ बाँटने पर दु:ख कम हो जाते है और अपने आपमे अपने लिये जाहर बनाने के बराबर है । ईसीलिये अपने अंदर दु:खो को न रखें नहीं तो अपने आप को गढा से निकालने कि वाजये आप उसी गढा मे दबे के दबे राह जयेंगे ।

  1. अकेला न रहें

ज्यादातर देखा जाता है कि ब्रेक-अप के बाद,  लोग अकेलापन का शिकार हो जाते है, वे अकेला रहना पसंद करते है और ज्यादा से अकेला राह के उन्हे ही याद करते रहते हैं । जितना हो सके अकेला न रहें नहीं तो बार बार उन्हे याद कर अपने पिछले जिंदगी को ताजा करने के बराबर है ।

छोटी सी बात

जब वो थी हौसला देती थी, दिल के साथ बहुत कुछ बिखार जाता है । उनके बिना सूना सूना लगता है, अपने आपको संभालना  मुश्किल होता है । लेकिन किसी को कितना भी मिस् करें पर अपनी जिन्दगी अपने आपको ही जिना है । आंजने मे बहुत कुछ हो जाता है, बाद मे पता चलता है कि आंजने मे हो गया । मनते है कुछ दिनो के लिये अपने आपको संभालना मुश्किल होता है । पर अपने आपको संभाले ताकि आंजने मे अपसे कुछ गलत न हो जाये । उस रास्ते को ढूंडे जो कि आपको अपने मंजील तक ले जाये-

छोटी सी कवीता ”मार्ग हमारा दर्शक है”

1 हमें जो अपना दिशा दिखाए,

हमें जो मंजिल तक ले जाए,

 ।। मार्ग हमारा दर्शक है ।।

2 जो खोया उसे अपना घर दिखाए मार्ग,

उसे अपने परिवार के साथ मिलाए,

।। मार्ग हमारा दर्शक है ।।

3 पहले जमाने कि मार्ग अपने आप बन जाती थी,

वर्तमान समय के मार्ग बनाना पडता है,

फिर भी हमें अपना मंजिल दिखाए,

।। मार्ग हमारा दर्शक है ।।

 4 मार्ग में चलना जीवन का एक पहलु है,

 जीवन जिना भी एक पहलु है,

 इसीलिए जीवन का एक मार्ग होना बहुत जरूरी पहलु है,

।। मार्ग हमारा दर्शक है ।।

 5 जिसका मार्ग नहीं वह भटक चले,

जिसको मार्ग मिले वह सहला के चले,

एक बार मार्ग मिले तो वह हँस-हँस के चले,

 ।। मार्ग हमारा दर्शक है ।।

हमारे जिन्दगी मे एक मार्ग का होना बहुत जरूरी है, क्योंकि मार्ग ही हमें मंजिल तक ले जाता है । जिन्दगी कि वह मोड आपका है जिस्से आप आने वाले काल मे खुदके साथ बिताते हुये जियेंगे । हमारे व्दारा बताये बातों को अपने जिंदगी मे जोडना या नहीं जोडना आपके फैसले के ऊपर है ।

Leave a Reply

Close Menu