Nazar pyar ka:-किसी भी रिश्ते में जूडने से पहले आपको अपने अंदर अपने मन में यह पता होना बहुत जरूरी होता है कि आप जिस्से भी रिश्ता जोडना चाहते क्यों जोडना चाहते हैं ? क्योंकि किसी भी रिश्ते को बनाने का कई कारण होते हैं । अपने आपसे यह सवाल पूछे उसके बाद जब आपको अपने सवाल का जवाब मिल जाये, उसके बाद ही आपको आगे बढें । बिना जाने किसी रिस्ते मे जुडना, अपने आपको संभलना बहुत थोडा मुस्किल होता है । एक बात समझना बहुत जरूरी है कि प्यार जिन्दगी बर्बाद भी कर सकती है और बना भी सकती है । यह ईंसान के ऊपर निर्भार करता है और आप पे भी असर डाल सकता है । इसीलिये जनना बहुत जरूरी है कि किसी लडकी के प्यार में पडने से पहले ।

प्यार मे पडने से पहले आपको जनना बहुत जरूरी है कि प्यार में किस तरह कि दिक्कातो का समना करना पाड सकता हैं ?

1 सबसे पहले अपने आपसे प्यार करना सिखना होगा तब जा के किसी से प्यार करें क्योंकि जो व्यक्ति अपने आपसे प्यार नहीं करता है । अपना खयाल नहीं रख पाता और अपने आपको संभाल नहीं सकता तो कैसे याकिन करलें कि वह किसी ओर से प्यार करेगा । उसका खयाल रखेगा और उसको संभालने का जिम्मेदारी लेगा । सबसे खस है कि अपने आपसे प्यार करना सिखें उसके बाद किसी ओर के बारें मे सोचें ।

Nazar pyar ka
Nazar pyar ka

2 अगर आप किसी से एक तरफा प्यार हो जाता है । माना उसे अपने दिल की बात, उसे बता दिये पर आपकी प्यार को सामने वाले ने नहीं लिया तो, आपको बहुत तकलिफ हो सकता है । नजाने उसके ईंकार करने के बाद मन मे किस किस तरह कि सोच पैदा होने लगती है । अगर आपको सामने वाला के ईंकार करने कि क्षमता को अपने ऊपर लेने कि हिम्मत हो तभी किसी से प्यार करें । क्योंकि जिसे आप चाहतें हैं, वह भी आपसे प्यार करें, ये जरूरी नहीं, प्यार आजाद है ईसीलिये किसी के साथ भी हो जाता है ।

2 किसी से प्यार होने के बाद समय कि बहुत खपत होता है, पता ही नहीं चलता कि कब दिन और रात हो जाता है । जिसे भी प्यार हो उसको बिना याद किये तो एक मिनट भी नहीं राह पातें, याद न करने पर भी उसे याद करने के लिये मजबूर करती है । उसी ख्वाब देखने का आदत हो जाता है जिसे रात के साथ दिन को भी सपना दिखाई देता है । भूला जाती कि काम क्या करना क्या नहीं करना है, अपना सारा कन्ट्रोल उसके हाथों मे है, जैसा लगता है । अगर संभाल गये तो ठिक है, अगर नहीं संभाले तो समय के साथ बहुत कुछ खोना पाड सकता है । इसीलिये प्यार करे तो सम्भाल के कहीं आपका सारा कन्ट्रोल उसके हाथों मे न चाला जाये ।

3 अपने आपमे खूश रहना भी भूल सकते है, प्यार ही ऐसा नाशा है कि एक बार चढने के बाद, ऊतरने का नाम ही नहीं लेता । आपको बार उसकी याद आईगी, उसने न होने पर उसकी कमी महसूस होगी । जैसे लगने लगता है कि उसने मेरी सारी खुशीयाँ ले गई है । उसके मिलने के बारे में या उसके साथ वक्त बिताने पर ही मेरी खुशियाँ दोबारा आयेगी । हालाँकी खुश रहना नहीं रहना हमारे उपर ही रहता है और खुशी हमारी अपने पास अपने साथ ही रहती है । पर जैसे लगता ही कि उसकी सारी खुशीयाँ चाली गई है । अपने आपमे खूश ही नहीं पायेंगें, बार उसकी कमी महसूस होती है । ईसीलिए कहा जाता है कि सारी खुशियाँ भूला जाती है, जो लगता है वह ही ले गई है । संभाल गए तो ठिक है, पर नहीं संभाले तो उसके मिलने के बाद ही वह खूशी मिलगी ।

4 शाक का बिमारी भी पकड सकती है, हलाँकि शाक हर कोई नहीं करते पर, प्यार शाक कि बिमारी को पैदा कर सकती है । हर कोई एक हीं ईंसान से नहीं राह सकता या दोस्ती नहीं कर सकता है । क्योंकि हर कोई आजाद रहना चाहते अपने पसंद के चिजे करना चाहतें हैं । यादि आप शाक करते हैं, तो आपको शाक के बिमारी को छुडायें उसके बाद किसी से प्यार करें । क्योंकि शाक रिश्ता को खरब कर देती है, उसके लेट आने पर शाक, फोन थोडा देर से उठाने पर शाक, किसी से बात करते देख ले तो शाक, हर समय शाक करना रिश्ता ज्यादा दिन तक नहीं चाल पाता है

5 ईज्जात करना, ईज्जात हर किसी है, आपका है, मेरा है उसका भी है । इसीलिये हर किसी का जिसे आप रिश्ता जोडना चाहते हैं, उसकी और उसे जूडे लोगों कि इज्जत करना बहुत जरूरी है । क्योंकि आपका इज्जात करना उसको इज्जात देना ही उसको बताता है कि आप उनके कितना प्यार करते है और कितना प्यार करने वाले हैं । उसके परीवार के सदस्यों का कितना इज्जात करने वाले हैं, । अगर आप उन शख्स मे से आतें है जो कि इज्जात को खिलवाड समझते है जब चाहे तब किसी के इज्जात से खेल के छोड के चाले हैं तो आपके लिये प्यार नहीं हैं । अगर ऐसे शख्स हैं जो कि इज्जात को बारीकी से जनते है और किसी का इज्जात करना आच्छे से आता है तो आप आगे कि कदम उठा सकते हैं ।

Nazar pyar ka
Nazar pyar ka

6 खर्च करना, जिसे भी रिश्ता जोड रहे हों, उसको खूश करने के लिये खर्च तो उठाना ही पडेगा । ये  नहीं कि आप अपने माता पिता के पैसों को उनके ऊपर उडायें । बल्कि आपको अपने पैरो पे खडा होना पडेगा, खुदकी कमाई को उनके उपर उडाना होगा, तब  उनके उपर खर्च करने मे भी माजा आयेगा । और आपको यह भी पाता चाल जायेगा कि पैसा कि अहमियात क्या है जिन्दगी में ।

7 गुस्सा को कन्ट्रोल करने कि शक्ति होना चाहीय़े, चाहे आप गुस्सा न करते हों पर जब गुस्सा आता है तो कुछ न कुछ तोड फोड कर देते हैं । देखो यार हर किसी को कहीं न कहीं तो गलती हो ही जाती है । किसी कारण आपकी होने वाली गर्लफ्रैंड से कोई गलती हो जायें और उसपे गुस्सा करेंगे तो शायद आपका रिश्ता ज्यादा दिन नहीं चाल पयेगा । इसीलिए प्यार करने से पहले गुस्सा को काबू करना सिखें, क्योंकि हर समय गुस्सा करने वाले लोगो को कोई पसंद नहीं करता है । इस वाजह से भी रिश्ता आपका आगे चलने कि वाजय वहीं रुक सकती है ।

8 एक बार भी दिमाग शांत न रहना, दिमाग तभी थकता है, जब वह किसी चिज के बारे मे बार सोचता हो या सोचते रहता हो । बार बार उसी के बार मे सोचने में मजबूर करता जिसे आपका दिमाग थक जाता है, इस वाजह से किसी और चिज के बारे सोच ही नहीं पायेगें । दिल दिमाग मे एक पागलपन सा चाढ जाता है, जिसे कि किसी ओर चिज करने मे मन नहीं करता । वैसे ये बहुत कम लोगो का मे होता है, जिसे अपने मंजिल को छु नहीं पाते हैं । हो सकता है आपके साथ इसीलिये ध्यान दिजीये कि जब उनसे प्यार करे तो उनके ही बारें मे ज्यादा न सोचते रहे बल्कि अपने भविष्य के बारे में सोचें ।

9 दूसरे लडकी को देखना छोडने होगा, हाँलाकि ऐसा कहा जाता है कि जैसे कार में एक मुफ्त टायर रखना चाहीये ताकि पंचार या फट जाये तो दूसरे को जल्दी से लगा लिया जाये । ऐसा कई लोग मनते हैं जिसके कारण दो से तीन गर्लफ्रैंड बना के रखे रहते हैं । वास्तव मे यह बहुत गलत है, क्योंकि इस सोच से किसी के जिन्दगी खरब हो जाता है । अगर उन शख्स मे से है जो कि इस सोच से बांधे हुये हैं तो शायद यह प्यार नहीं बल्कि जीवित जीव को निर्जीव से तुलना करने के बराबर है जो कि खिलौना कि तरह खेल के चाल जाते हैं । किसी से प्यार है तो उन्हे छोड किसी को लाईन न मारें, हाँ अगर आपका प्यार छोड के चाली गई है तो दूसरी लडकी को लाईन मार सकते हैं ।

10 हिम्माती बनना होगा, प्यार किया तो डरना क्या बात हर प्यार करने वाले शख्स से सूने ही होंगे । प्यार मे नहीं डरने के लिये आप हिम्माती तो बनना ही होगा, क्योंकि हर कोई प्यार को नहीं समझते । प्यार को ही नहीं समझते तो प्यार के अहमियात को कैसे समझेगें । क्या पता जिस से प्यार करने वाले हैं उसके पिता यह उसके भाई प्यार को नहीं समझते हो । कभी न कभी तो सामना उनसे हो ही जायेगा तब आता है, उनके सामने आपका हिम्मात । और कोई बंदा अपकी बांदी को छेड रहा हो तो आप अपना हिम्मात दिखा सकते है । वैसे स्थिती मे पिठ दिखा के तो भाग नहीं सकते क्योंकि पिठ देखा के भागने वालों को कायर कहा जाता है । और उसके रक्षा के लिये आगे नहीं आ पाते तो खाक प्यार है ।

11 गुप्तो बातों को दूसरे से दबाने कि शाक्ति, जितना भी अपने आपको रोकने कि कोशिस करलो पर वह काम हो ही जाता है । पहले से तय न किये रहने पर भी अचानक से हो जाता है और वो जो अपने गुप्त बातो को आपको बताती है । वैसे बातों को अपने अंदर दबाने कि शाक्ति हो तो ही आप प्यार करें । क्योंकि किसी को बताना देर होता है, फैलने में जरा सा भी देर नहीं लगता है । अगर उन शख्स मे से है जो कि आपके दोस्त आपके ऊपर भरोसा करके अपने गुप्त बातों को बताता है और आप किसी के बाताये बातों को बताते है तो आप इन आदतो को सुधारें क्योंकि आप खूदके पैर में कुल्हाडी मारने के बराबर है ।

12 सूनने कि आदत बनाना होगा, हर किसी को अपने बारें मे अपने दिल की हाल के बारे मे, अपने परेशानी को दूसरो को सूनाते हैं । वैसे ही अगर आपको कोई बताता है तो उसके बातों को नाजर आंदज न करें । बल्कि ध्यान से सूने कि वह क्या काह रही है । यानी सूनने कि आदत को अपने अंदर डालना होगा, क्योंकि सूनना एक कला है, जो कि ओरो से बहुत अलग दिखाता है । अगर उनके बातें सूनते है तो उन्हे अपने आप मे बहुत आच्छा लगेगा । अगर नहीं सूनते है तो उन्हे लगने लगेगा कि आप उनके बातें नहीं सूनते हैं, उनके दिल हालों को समझने कि कोशिस नहीं कर रहें ।

13 थोडा मजाकिया, समझना बहुत जरूरी है क्योंकि प्यार में बहुत मजाक होता है, जो कोई कोई मजाक को सहान नहीं कर पाते । जिसके कारण मजाक ओर रुप मे बाढ  जाता है, इसीलिये थोडा मजाकिया बनें जो कि कोई आपके साथ मजाक करे तो उसके साथ भी मजाक करने मे सफल हो जायें और सामने वाले का मजाक को सहान कर सकें । प्यार के लिये नहीं बल्कि जो आपके साथ छोटी छोटी मजाक करता है तो उसे दिल पे न लेके, मजाकीया भाषा का मजाकिया जवाब दें ।

14 भीडों से अकेले रहने के लिये मजबूर करती है, आपके पास जितना भी भिड हो पर उसे मन हाट जाता है । जिसे अकेला रहने के लिये मजबूर करती है ।

15 बार बार मिलने का मन करता है, एक बार चाहने के बाद न चहना बहुत मुश्किल है और न मिलना तो हो ही नहीं सकता । उसे एक बार मिलने के बाद बार मिलने का मन करता है । उसे देखने का मन करता है, जो कि समय के साथ उसे बार बार मिलने से आस पास के लोगों को भी पता चलता है । जिसके बाद लोग अन्नेकों तरह कि बातें करते हैं । इसे यह निकालता है कि लोगों के अन्नेको बातों को सहने के भी क्षमता अपने उपर लाना होगा । हाँ अगर न हुये बातें अगर कोई कहता है तो उसे काह सकते है या फिर नाजर आंदज कर सकते हैं ।

16 उसके जरुरात अगर आपसे मांग रही है, उसे पूरे करना पड सकता है, अगर उसे अपना बनाने के बाद वह अपकी हो जाती है जिसके कारण उसकी छोटी छोटी अवश्यक्ता आपसे मांग करती है, तो उसे पूरा करने भी कबीलियात बनाना होगा । अगर आप उन शख्स मे से है जो कि उसके छोटी छोटी अवश्यक्ता पूरा नहीं कर सकते तो उसके कबीलियात बनें । हांलाकि हर लडकी मांग नहीं करते लेकिन ऐसे लडकी के साथ प्यार ही हो जाता है, आपको पूरा करना ही पाड सकता है ।

Nazar pyar ka
Nazar pyar ka

16 दूंरियाँ सहन करने कि शाक्ति हो, हर मिनट तो उस शख्स के साथ नहीं रह सकते अपने लिये उसके लिये कुछ न कुछ तो काम करना पडेगा । अगर वैसे जागा काम लग गया जहाँ उनको छोड के जाना पाड रहा हो, ऐसा स्थिती मे आपको दुरियां सहने कि तफलिफ को भी सहान करना सिखना होगा । क्योंकि दूरियाँ मिटाना किसी के बस कि बात नहीं और दूर न होना कहीं लिखा हुआ है । किसी न किसी दिन दूर जाना पड सकता है, अगर दूरियाँ आदत नहीं बनाये रहेंगे तो बहुत तकलिफ हो सकता है प्यार मे बडने के बाद ।

17 अपने साथ उसका भी खयाल आता हो, आज काल के भागदौड के जिन्दगी मे अपना खयाल तो रखा नहीं जा सकता उसका कैसे रखेंगे पर ये बहुत जरूरी है । क्योंकि अपने साथ उसका भी खयाल करने का आदत डलना होगा क्योंकि किसी का खयाल न करना रिश्ता का न टूकने का संकेत है ।

प्यार मजाक नहीं क्योंकि प्यार एक बंधन है । जिन्दगी उस सफर मे आप चलने वाले जो कि प्यारी प्यार को अपने सफर मे शामिल करके उनके साथ चलना चहते हैं । जो कि आपको प्यार करने से पहले कुछ बातों का जनना बहुत जरूरी होता है जो कि उस आनवाले परेशानी का समना करने मे आसान हो ।

हालाँकि हर किसी के साथ एक जैसा घटनाय़ें नहीं घटती है पर वह संभालने के ऊपर निर्भार करता है । इसीलिए हर रोड कहती है सावधानी हाटी दुर्धटना घाटी, सावधानी से अपने जिन्दगी के सफर को तय करना आपके ऊपर है ।

 ईंसान को प्यार करने से पहवे कई बातों का जनकारी होना बहुत जरुरी होता है । गुस्सा न करना, उसे खुस करने के लिए हंसना, उसके इज्जात करना आदि, को अपने ऊपर लेना बहुत जरूरी पहलु होता है । तब जा कि वह किसी से प्यार कर सकता हैं और प्यार को लम्बे समय तक ले जा सकता है ।

This Post Has One Comment

Leave a Reply

Close Menu