Romantic couple Kaise bane:-आच्छे पति पत्नी बने रहना दंपति को केवल नहीं बल्कि उनके बच्चों को भी लाभ होता है । यदि एक आच्छे पर्टनार कि तलाश मे है या फिर आप चाहते है कि आपका पर्टनार आपसे बहुत प्यार करे तो आपको को भी आच्छा पर्टनार बनने कि अवश्यक्ता है । मना कि आच्छे काम मे थोडा मुश्किल लगता है पर इतना ज्यादा भी मुश्किल नहीं है, कि आप आच्छा नहीं बन सके । अगर आपने दिले मे ठन लिया है कि अपने लिए, अपने पर्टनार के लिए, अपने बच्चो के लिए, अपने आप मे बादलाव लाना चाहते है तो आपके लिए यह मुश्किल नहीं है ।

खासकर हमेशा खयाल रखना जरूरी है कि आपके पर्टनार क पास अलौकिक शाक्ति नहीं है जो कि आपको उनके मर्जी से बादल दे । लेकिन अपने आप मे अपने लिए इतना तो हिम्मात है कि अपनो के लिए बादलाव कर सके । भारत जैसे देश में छोटी छोटी बात पर रिश्ता बिगाड जाता है और छोटी छोटी बात पर रिश्ता बन भी जाती है । इसीलिए वही छोटी छोटी बातों के बारे मे जानेंगे जो कि आपको एक Romantic couple बनाती है ।

कैसे एक Romantic couple बनें

1 मिलके दोबारा मिलें

इंसान को हर रोज किसी न किसी से समना करना पडता ही है, वैसे ही इंसान के जीवन मे तनाव भी हमेशा आते रहते है । आप अपने पर्टनार को अकेला न छोडे, बल्कि आप मिलके दोबारा मिले और साथ मिलके तनाव को कम करने के लिए मदद करें । अगर अपने पर्टनार को अकेला छोड देंगे तो शायद मुश्किले बाढ सकती है, जिस्से निकालना मुश्किल हो सकता है ।

2 अपने शादीशुदा जिंदगी मे सेक्स को मन्यता दें

हर किसी के जीवन में दूरियाँ होती है जिसके कारण रोजाना दिनचार्य मे सेक्स नहीं हो पती है । जिसके कारण नजदिक होने के बावजूद भी दूरियाँ रहती है अपनी जिंदगी मे सेक्स को महत्व दें । क्योंकि सेक्स करने से दो लोगो के बीच मे नजदियाँ बढती है, जो कि बेहतार जीवन के लिए बहुत जरूरी होती है । अक्सर देखा जाये तो रिश्ता सेक्स न करने कि वाजह से भी टूटती है,  रिश्ता टूटने कि वाजह अगर एक दूसरे को प्यार न करना नजदियाँ नहीं रहना । नजदीकिओ को बढावा देता है सेक्स जो आपको उनके और अधीक नजदीक ले जाता है और प्यार भी दोनो मे बहुत हो जाती है ।

Romantic couple
Romantic couple

सेक्स करते वक्त ज्यादा जल्दबाजी न करें, बल्कि किस् करें, कुछ देर के किस् के बाद ही सेक्स कि शुरूआत करें । आपके पर्टनार को नहीं लगना चाहिए आप मजबूरी मे सेक्स कर रहे है, बल्कि ऐसा लगना चाहिए कि आप उन्हे सचमे बहुत प्यार करते है । अगर आपको पर्टनार का सेक्स के प्रति भवना नहीं हुई है तो उन्हे जबरजस्ती न करें ।

3 अपने पर्टनार के नजदिकी बनें

नजदिकी सिर्फ शरीरिक संबध से नहीं होता, बल्कि सबसे नजदीकियाँ मन कि बात अपने पर्टनार के साथ बाँटने से बढती है । आपस मे हँसी मजाक करना, एक दूसरे को मजदार मैंसेज भेजना दंपति के नजदीकिओं को बढाता है । उनके साथ शान्तिपूर्ण वक्त बितायें, अपने मन की बातों को अपने पर्टनार के साथ बाँटे उन्हे बहुत आच्छा लगेगा । अगर आप अपनी मन कि बात एक दूसरे के साथ बाँटते है तो आपका पर्टनार भी अपने मन कि बात बताने के लिए आपकी ही पास जायेंगे ।

जितने आपके दोस्त हो रिश्तेदार हो चाहे आप अपनी मन कि बात अपने दोस्त सहेली या रिश्तेदार को बता के अपने मन कि बात को हल्क कर लिए होंगे । लेकिन अपने पर्टनार को भी बताना जरुरी है । ताकि वे अपने जिंदगी के सबसे खूशी पलके आपके साथ बिता सके, अपने खूशीओं को आपके साथ बाँट सकें ।

4 अपने पर्टनार माफी देना

कई बार बहस शूरू हो जाने के बाद खतम होने का नाम ही नहीं लेता है, इसका कारण यही होता कि गलती न मनना । अगर आपस मे अपने पर्नार से किसी प्रकार कि गलती हो जाये और वे आपसे मफी माँगते है तो आपको माफ कर देना चाहिए । अगर आपसे किसी प्रकार कि गलती हो जाये तो आपको भी गलती मन लेना चाहिए । क्योंकि गलती न मनने से आपकी गलती कई दिनो आगे तक जा सकती है और कभी भी आपके उस गलती जिक्र हो सकता है । हाँ अगर आपका गलती या पर्टनार के माफी के काबील नहीं होगा तो शायद माफी देने मे या मफी मिलने थोडा दिन लग सकता है ।

अगर अपने को अपने गलती का अहसास करेंगे तो आप जल्द ही माफी का हकदार हो जायेंगे । अपनी गलतीओं को स्विकार कर लेना एक रिश्ता को और खूबसूरत बना देता है ।

5 काम और शरीरिक बादलाव को स्विकार करें

पाँच कदम चालने के बाद जब पिछे मूड के देखा जाये तो वह जगाह मे कफी बादलव आ चुके होते है, जब पिछे मूडके उस स्थान को देखते हैं तो धूल या पत्ता गिरा हो नहीं लेकिन बदलाव दिखाई देता है । यह नहीं जो शरीर आपका 24-25 साल मे होती है शरीरी 50-51 साल के उम्र भी वैसे ही रहेगी । ऐसा नही होता है आपको बहुत बदलाव दिखेंगे, साथ मे शरीर के बदलाव के साथ माशिन के काम करने कि शाक्ति मे भी बदलाव दिखाई देगा ।

आपको हर बदलाव को स्विकार करना होगा, चाहे वह शरीर के बनावटी के उपर हो या मशिन के काम करने के बदलाव के उपर हो आपको स्विकार करना ही पडेगा । हम मे हमारे मे बदलाव आने से हमे कई बार उसका नुकसान भी उठाना पडता है, कई बार लाभ भी होती है । मन लिया जाये आप एक बडे से कम्पनी मे काम करते है, जहाँ का बोस बहुत चिड चिडा है, जो कि काम करने के वालो के उपर भारी पडता रहता है । उस कंपनी से आपको निकाल दिया जाये तो आपको फयदा यह मिलेगा कि कम्पनी से निकाल जाने के बाद बोस की पेटेर-पेटेर से आपको छुटकारा मिल जायेगा । नुकसान यह होगा कि आप रोजगार से बेरोजगार हो जायेगें ।

Romantic couple
Romantic couple

अपने पर्टनार का में बदलाव हो या रोजाना जिंदगी मे बदलाव हो, किसी के मौत हो या नौकरी छूट जाने से आपको हर बादलाव स्विकार करना होगा । एक आच्छे दम्पति तभी टिक पातें है, जब वे हर बादलाव को स्विकार करते है । दोनों एकजूट हो के बादलाव का समना करते है, बिना एक दूसरे के ऊपर बहस किये ।

6 अपने पर्टनार को समझें

हालाँकि हम भगवान नही हैं, वह भी इंसान है हम भी इंसान है । इसीलिए अपने पर्टनार के बिना बताये हमें कुछ पता नहीं चाल पता है । लेकिन उनके चेहरे को देख कुछ समझ सकते है कि उन्हे क्या चाहिये । अगर वे अपने दोस्तो के साथ वक्त बिताना चाहते है तो उन्हे न रोके क्या पता वे कई दिनों से दोस्तो से मिले नहीं  हो । इसीलिए उन्हे न रोकें । आपके नहीं रोकने से उनको बहुत आच्छा लगेगा और आपके तरफ भी ध्यान ओर ज्यादा देने लगेंगे ।

 मैने कई रिश्ता देखा है जो कि दंपति एक दूसरे को दबा के रखे होते है, बाहर कोई गया थोडा देर हो जाती है तो बहस करने में लग जाते है । ऐसा न करें अगर वे अपने दोस्तो के साथ वक्त बिताते है तो आपको भी अपने दोस्तो के साथ वक्त बिताना चाहिए उनको बहुत आच्छा लगेगा । शादी के बाद जिम्मादारी के साथ, कई सारे सपने भी होते है । अगर वे अपने सपने को पूरा करना चाहते है तो उन्हे न रोकें, रोकने कि वाजय उनका मदद करें । आपका रिश्ता बहुत खूबसूरात लगेगा, वे आपको बहुत ज्यादा प्यार करने लग जायेंगे ।

   क्या नहीं करे 

1 अपने पर्टनार के बारे मे किसी न बतायें

माना ऐसा कई बार हो जाता है कि अपने दोस्तों के साथ बातें करते वक्त अपने पर्टनार के बारे कुछ बातें निकाल जाता है । पहली रात का हो या किसी भी रात का लेकिन जन बूझकर अपने पर्टनार के बारें मे अपने दोस्तो को बताना सही नहीं होता है । इसे आप अपने पर्टनार के सामने तो छवी खरब हो जायेगी । साथ ही आपके दोस्तो के सामने भी आपका छवी खरब हो सकता है, इसे आपके गलत दोस्त आपको गलत सलाह भी दे सकते है ।

अपने पर्टनार के बारें मे बता के आपको कुछ नहीं मिलने वाला, शिवाये खराब छवी के । शादी के बाद आपका अन्नेको जिम्मेदारीयाँ आती है,  आपका जिम्मेदारी यह भी आता है कि पर्टनार का इज्जात यानी आपका इज्जात । इसीलिए अपने पर्टनार के बुराई करने के साथ आप अपना भी बुराई कर रहे है ।  अपने पर्टनार के रिश्ते को अहमियात दें और अपने पर्टनार के प्रति बुराई न करें ।

2 झगडा न करें

ऐसे बहुत रिश्ते मैने देखा है और उनके साथ वक्त भी बिताया है, तो मेरे कई ऐसे दम्पति आते हैं । जो कि किई तो झगडा करने के लिए पिछे नहीं हटते हैँ और कोई कोई ऐसे भी होते हैं । जो कि झगडा करने कि वाजय पिछे हट जाते हैं और गुस्सा को ठंडा होने के कि इंतजार करते हैं । आच्छे दम्पति मे वही मसला आता है जो कि अपने गुस्सा को ठंडा होने कि इंतजार करते है और आराम से उस मसले पर बिचार करते हैं ।

Romantic couple
Romantic couple

झगडा करते रहने वाले इंसान को सामने वाले इंसान को बहुत गलत दिखाता है । अगर आप हमेशा किसी न किसी बात पर झगडां करेंगे तो आपके पर्टनार अपने जिंदगी मे शायद उतना महत्व नहीं दे पायेगा जितना कि आप उम्मिद किये होते हैं । मना उनसे छोटी छोटी गलतीयाँ हो जाती है लेकिन आपको समझना बहुत जरूरी है क्या गैरंटी है कि आप से भी वह गलती न हो । हर छोटी छोटी बात पर झगडना सही बात नहीं होता है, क्योंकि यह एक बहस का रुप भी ले सकता है ।

गुस्सा मे बहुत कुछ हो जाता है जिसे गुस्सा मे अपने पर्टनार को बहुत कुछ काह देते है जिसके बाद हो सकता है कि वह आपको अपने जिंदगी से न करें । हो सकता गुस्सा आता है, लेकिन उनके साथ भी खूश रहना है, उनकी जिनदगी जो आच्छे चिजें किये है या फिर जो चिजों मे आच्छे करते है । उन चिंजो पर आप उनकी तारीफे कर आप उनके साथ आच्छे जूड सकते है, उसके बाद वे अपके बातों पर भी अमन करेंगे ।

 

4 बादलने कि कोशिसे न करें

कुछ ऐसे भी होते है जो कि अपने पर्टनार को दूसरो के पर्टनार के साथ कोंपैर करते है । वह कितना आच्छा कितना स्विट है वैगेरा वैगेरा । इस वाजह से अपने पर्टनार को बादलने कि कोशिस करते है । लेकिन ऐसा न करें, वे जैसे है वैसे ही रहने दें, क्या पता वह सेक्सी होठ दिखना पसंद न करते जिसके कारण वे वैसे है । उन्हे वैसे ही स्विकार करें, आप उन्हे अहसास दिला सकते है जैसे वे है वैसे ही आप उन्हे पसंद करते है । उन्हे बहुत आच्छा लगेगा आप जितना प्यार करेंगे उस्से भी अधीक आपको प्यार मिलेगा ।

हाँ अगर आपके पर्टनार का मे बदलाव ला लकते है, अगर वे योगा या व्यायाम नहीं करते है तो आप उनके रोजना जिन्दगी मे व्यायाम योगा को जोडने के लिए काह सकते है । साथ मे अपने घर के कामों मे हाथ बटाने के लिए भी काह सकते है, लेकिन अगर उन्हे खतरों से खेलना पसंद नहीं हो तो उन्हें जबरजस्ती न करें । वह हर वस्ती जो आपको आच्छा लगता है और उनको नहीं तो, आप बहुत अलग ईंसान के साथ राह रहे है । इसीलिए आपको संबध बनाने के साथ, हो सके तो उनके लिए आप अपने आप मे बदलाव कर सकते हैं ।

2 अपने पर्टनार के बारें मे बात न करें

कई बार झगडा इतना आवाज के साथ हो जाती है कि आडोस पडोस के लोगो को पता चाल जाता है । आगले दिन जब पडोसन के पूछने से कई गलत अपने पर्टनार के प्रति काह देते हैं । गुस्सा मे अपने पर्टनार के प्रति ऐसा कुछ न काह दें जिसके लिए आपको आने वाला काल मे पछताना पाड सकता हो । जब कोई पूछे कि आपके घर मे बहुत सोर सराबा झगडने कि बात सुनाई दे रहा था । ज्यादा कुछ न कहते हुये, नहीं कोई बात नहीं घर मे बच्चो के साथ परीवारीक पर्टी था इसीलिए चिल्ला रहे थे । उनके मन मे गूंज रहे सवाल भी मिल जायेगा, उनके सामने अपने परिवार के प्रति आच्छा दिखला के जायेगें ।

कभी कभार रिश्ता ऐसे स्थिती मे हो जाता है, जहाँ अपने पर्टनार के प्रति सहमत नहीं होते है, लेकिन अगर आप आच्छे पर्टनार बन्ना चाहते है तो आपको उनसे सहमत होना पडेगा । उनका इज्जात देना होगा, हर खुशी से रह रहे दम्पति मे एक जैसा सहमत न होते हुये भी एक दूसरे कि इज्जात कि वाजये से आच्छे बन पाये है ।

न ही बच्चों के सामने झगडा करे, नहीं किसी प्रकार कि बहस का जवाब दें । एक दूसरे को समझदारी से बात करते हैं उसके बाद गलती मन ही जाते है ।

एक आच्छे दंपति मे एक दूसरे के प्रति सम्मान, जिसमे एक दूसरे को सम्मान देते है, इज्जत करते है । अपने स्वार्थ से पहले अपने पर्टनार की इच्छाओं का महत्व देंने लगते है, जो कि दंपति को एक दूसरे के ऊपर कफी ज्यादा जूडे रहते है । एक दूसरे पर इल्जाम न लगाते हुये वे किसी का भी गल्ती होती है तो अपने गलती को स्विकार करते है और आगे बढते है । एक दूसरे कि अलग अलग सोच कि कदर करते, एक दूसरे कि सपनों को पूरा करने मे एक दूसरे कि मदत करते है । हयोग के भाव से पति पत्नि दोनों ही एक दूसरे कि मदत करते है जिसे एक Romantic couple कहलाते है ।

This Post Has One Comment

Leave a Reply

Close Menu